मा की बातें
अनमोल बातें
जैसे गढ़ें कोई
बहुमूल्य बातें ।

मा की बातें
सुघड़ बातें
मा की बातें
जग की बातें ।

अमूल्य गाते
सहज बातें
सरल बातें
मा की बातें ।

समझ न पाते
फिर पछताते
मा की बातें
उज्ज्वल बातें ।

- हितेंद्र कुमार श्रीवास
सहायक शिक्षक
बालक आश्रम करियाकाटा
कोंडागांव पिनकोड 494226

Please join our telegram group for more such stories and updates.telegram channel

Books related to हिंदी कविता