मातृभाषा
पितृ संस्कृति
अत्यंत आवश्यक है
जीवन समग्र
सफल केलिए |

इन धरोहरो की
प्राप्तिया महत्वपूर्ण है
जीवन मे |

अनेको
अनेकानेक
कर्तव्य निर्वहन
कष्ट सहने
पड़ते है |

मातृ पितृ की
इन अनमोल
अमूल्य विरासत
हस्तान्तरित करने ।

- हितेंद्र कोंडागंया
९१३१२२०४६९
hitendrashrivas123@gmail.com

Please join our telegram group for more such stories and updates.telegram channel

Books related to हिंदी कविता