मातृभाषा
पितृ संस्कृति
अत्यंत आवश्यक है
जीवन समग्र
सफल केलिए |

इन धरोहरो की
प्राप्तिया महत्वपूर्ण है
जीवन मे |

अनेको
अनेकानेक
कर्तव्य निर्वहन
कष्ट सहने
पड़ते है |

मातृ पितृ की
इन अनमोल
अमूल्य विरासत
हस्तान्तरित करने ।

- हितेंद्र कोंडागंया
९१३१२२०४६९
hitendrashrivas123@gmail.com

Please join our telegram group for more such stories and updates.telegram channel

Books related to हिंदी कविता


कविता संग्रह
हिंदी कविता
श्याम सुन्दर तिवारी जी की कविताएं
वक़्त ने किया क्या हसीन सितम