रामचरितमानस

गोस्वामी तुलसीदासने रामचरितमानस ग्रन्थकी रचना दो वर्ष , सात महीने , छ्ब्बीस दिनमें पूरी की । संवत्‌ १६३३ के मार्गशीर्ष शुक्लपक्ष में रामविवाहके दिन सातों काण्ड पूर्ण हो गये।

गोस्वामी तुलसीदासगोस्वामी तुलसीदासने रामचरितमानस ग्रन्थकी रचना दो वर्ष , सात महीने , छ्ब्बीस दिनमें पूरी की । संवत्‌ १६३३ के मार्गशीर्ष शुक्लपक्ष में रामविवाहके दिन सातों काण्ड पूर्ण हो गये।
Comments
Please join our telegram group for more such stories and updates.

Books related to रामचरितमानस


रामायण, महाभारत और पुराणों के कुछ तथ्य भाग 2
Pregnancy Guide in Hindi. Garbhavastha Guide.
विक्रमोर्वशीय
पिरामिड सत्य या छलावा
सीता की दास्तान
भारत के 10 प्रमुख राम मंदिर
रामायण के मायावी दानव
श्री राम के जीवन के अहम राज़
श्रीनिवास रामानुजन